WhatsApp Status Messages in Hindi

मेरी थकान सारी दुनिया, और मेरा सुकून सिर्फ तुम।

सुनो Babu दिल के इतने ️साफ़ हो तुम तभी तो इतने खास हो तुम।

काफी दिनों से कोई नया जख्म नहीं मिला, पता तो करो.. अपने हैं कहां।

Style‬ ‪ऐसा करो‬ की ‪दुनिया देख़ती‬ ‪जाये‬,और ‪यारी‬ ऐसी करो की दुनिया ‪जलती जाए‬।

Hum वो hai जिसे देखकर हर ladki मुड़कर अपनी सहेली se kehti hai की देखकर बता kya वो Mujhe देख रहा है क्या।

लोग कहते है अगर तुम दिल से आँख बंद करोगे तो, जो तुमसे प्यार करता है उसका चेहरा दीखता है… मेने भी ‪Jυѕт тяу‬ किया और ‪‎भीड़‬ लग गयी।

हर चीज़ उठायी जा सकती है पर गिरी हुई सोच नहीं।

शिकायत जिन्दगी से नही, उनसे हे जो जिन्दगी में नही है।

घर की मॉ को खुश रखो.. मन्दिर वाली मॉ अपने आप खुश हो जायेंगी।

काम के बोझ से तो नहीं, बस, थक जाता हूँ तुम्हे सोचते सोचते।

सुनो.. तुम जब… मेरी फ़िक्र करते हो ना.. तब जिंदगी.. जिंदगी सी लगती हैं।

फ़ना होने का दम रखना, फिर दिल में कदम रखना।

गवाह तो कोई नही है मगर मैडम लेकिन.. मेरे दिल की चोरी तो तुमने ही की है।

जो जैसा है… उसे वैसा ही अपना लो, रिश्ते निभाने आसान हो जायेंगे।

‎लाख‬ दिये ‪‎जलाले‬ अपनी ‪‎गली‬ मे.. मगर ‪रोशनी‬ तो ‪हमारे‬ आने से ही ‪‎होगी‬।

मेरी थकान सारी दुनिया, और मेरा सुकून सिर्फ तुम।

सुनो Babu दिल के इतने ️साफ़ हो तुम तभी तो इतने खास हो तुम।

काफी दिनों से कोई नया जख्म नहीं मिला, पता तो करो.. अपने हैं कहां।

दम की बात कम कर लौंडे…. जहां तक तेरी सोच है वहां तक मेरी पहुंच है।

Style‬ ‪ऐसा करो‬ की ‪दुनिया देख़ती‬ ‪जाये‬,और ‪यारी‬ ऐसी करो की दुनिया ‪जलती जाए‬।

ज़िन्दगी बहोत सुंदर है… बस इस गर्मी में कोई साथ मे…. ice-cream खाने वाली मिल जाये।

सुबह होते ही वो पगली मेरे Msg का इंतजार करती है, और हम ठहरे बेशर्म हर रोज़ late ही उठते है।

में ये नही केहता पगली कि तू नही मिली तो जान दे दूंगा, पर एक वादा करता हूँ तू मिली तो जिंदगी भर साथ दूंगा।

ज्यादातर लड़को का करियर तो वही खत्म हो जाता है जब आगे के बेंच पर बैठी लड़की पीछे मुड़कर स्माइल के साथ पेन पेंसिल मांग लेती है।

मिले तो BEST नहीं तो NEXT LIFE मे ये Formula रखोगे तो कभी भी Feeling Sad वाले Status नहीं रखने पड़ेंगे।

Hum वो hai जिसे देखकर हर ladki मुड़कर अपनी सहेली se kehti hai की देखकर बता kya वो Mujhe देख रहा है क्या।

लोग कहते है अगर तुम दिल से आँख बंद करोगे तो, जो तुमसे प्यार करता है उसका चेहरा दीखता है… मेने भी ‪Jυѕт тяу‬ किया और ‪‎भीड़‬ लग गयी।

सुन पगली मेरी राधाभी तू मेरी मीराभी तू जब भी I Love You बोलने का दिल करे तो Remember Your’s कृष्णा Dreaოing for Yɷu!

हर चीज़ उठायी जा सकती है पर गिरी हुई सोच नहीं।

शिकायत जिन्दगी से नही, उनसे हे जो जिन्दगी में नही है।

घर की मॉ को खुश रखो.. मन्दिर वाली मॉ अपने आप खुश हो जायेंगी।

काम के बोझ से तो नहीं, बस, थक जाता हूँ तुम्हे सोचते सोचते।

सुनो.. तुम जब… मेरी फ़िक्र करते हो ना.. तब जिंदगी.. जिंदगी सी लगती हैं।

फ़ना होने का दम रखना, फिर दिल में कदम रखना।

गवाह तो कोई नही है मगर मैडम लेकिन.. मेरे दिल की चोरी तो तुमने ही की है।

जो जैसा है… उसे वैसा ही अपना लो, रिश्ते निभाने आसान हो जायेंगे।

मेरे दोस्त केहते हैं तुम्हारे सब #Status एक नंबर रेहते हैं मैने कहा २ नंबर के काम मैने कभी किया ही नहीं।

‎लाख‬ दिये ‪‎जलाले‬ अपनी ‪‎गली‬ मे.. मगर ‪रोशनी‬ तो ‪हमारे‬ आने से ही ‪‎होगी‬।

देख पगली दिल मेँ प्यार होना चाहिए.. धक-धक तो Royal Enfield भी करता है।

Vo IShQ hi kYa.. Jo Aankho Se na Tapke!

Status ki kya Zarurat, Bas name ki kafi hai!

Status तो हर कोई डालता है, हम तो अपने #Status से लोगों में Attitude डालते है।

मेरे Status देख कर जलने लगा Mark Juckerberg भी, तभी तो Whatsapp से #Status का Option हटा दिया।

Sun pagle तू क्या status Dal के Mujhe Impress करेगा जितनी तेरे Pass Status है उससे ज्यादा मेरे #Status, Copy paste होते हैं।

Atitude #Status ki zarorat unhe Hai jinka koi #Status nahi.. Hum to khud 1 #Status hain, Jiske #Status ke cHarcHe sabki zaban per Hain

Sahara dudhne ki adat Humari nhi, Hum akele hi puri mehfil ke baraber hai.

इंसान सिर्फ आग से नहीं जलता, कुछ लोग तो हमारे अंदाज से जल जाते है।

गहरी साज़िशों का दौर है, उनके गिरेबान में झाँकते रहिये।

रेल मंत्री से बस एक ही गुज़ारिश है, मग्गे की चेन लंबी कर दें।

जब स्टेटस कॉपी होने लग जाए तो समझ लो तरक्की कर रहे हो।

जीवन की एक सच्चाई ये भी है कि हमेशा ट्रैफिक बराबर वाली लेन में तेज़ चलता है।

तेरे साथ भी तेरा था… तेरे बिन भी तेरा ही हूँ।

हमसफ़र खूबसूरत नहीं.. सच्चा होना चाहिए।

आप जिस पर आँख बंद करके भरोसा करते हैं, अक्सर वही आप की आँखें खोल जाता है।

अभी तो इश्क़ हुआ है… ‘मंज़िल’ तो मयखाने में मिलेगी।

खवाहिश नही मुझे मशहुर होने की … आप मुझे पहचानते हो बस इतना ही काफी है।

कमज़ोर पड़ गया है मुझसे तुम्हारा ताल्लुक …या कहीं और सिलसिले मजबूत हो गए हैं।

आइना जब भी उठाया करो.. “पहले देखो”.. फिर “दिखाया करो”।

चल पड़े है फ़िकरे यार धुएं में उडा के।

मेरी नीम सी ज़िन्दगी शहद कर दे… कोई मुझे इतना चाहे की हद कर दे।

प्यार का रिश्ता भी कितना अजीब होता है। मिल जाये तो बातें लंबी और बिछड़ जायें तो यादें लंबी।

अचानक Wi-Fi सिग्नल बंद हो गये… लगता है कि… पडोसी ने बिल नहीं भरा.।

हमारा कत्ल करने की उनकी साजीश तो देखो…… गुजरे जब करीब से तो चेहरे से पर्दा हटा लिया।

एक शराब की बोतल दबोच रखी है…. तुजे भुलाने की तरकीब सोच रखी है।

Baat aakhon ki suno dil mein utar jaati hai.. Zubba ka kya kabhi bi mukkar jaati hai

Ek hasin Jheel Nazar aati hai tumhari aankhen… Dil se kitni baate kar jaati hai tumhari aankhen…

Raaz Khol Dete Hain Nazuk Se Ishaare Aksar.. Kitni Khamosh Mohabbat Ki Zubaan Hoti Hai..

Aapki Aankho Mai Aaj Nami Dekhi. Tumhari Jindagi Ke Liye Kisi Ki Kami Dekhi

Naino kee mat suniyo re.. Naino kee mat suniyo.. Naina thag lenge.

इश्क करो तो आयुर्वेदिक वाला करो… फायदा ना हो तो नुक़सान भी ना हो।

लोग रोज नसें काटते हैं प्यार साबित करने के लिये, लेकिन कोई सूई भी नही चुभने देता.. “रक्त दान” के लिए।

ज़िन्दगी के हाथ नहीं होते.. लेकिन कभी कभी वो ऐसा थप्पड़ मारती हैं जो पूरी उम्र याद रहता है।

तुम्हारा दिल है या किसी मंत्री का इस्तीफा, कब से मांग रहा हूँ, दे ही नहीं रही हो।

शर्म की अमीरी से इज्जत की गरीबी अच्छी है।

इस दुनियाँ में सिर्फ बिना स्वार्थ के माँ बाप ही प्यार कर सकते हैं।

दिल मेरा उसने ये कहकर वापस कर दिया… दुसरा दिजीए… ये तो टुटा हुआ है।

कुछ रिश्ते मुनाफा नहीं देते, पर अमीर जरूर बना देते हैं।

शाम को थक कर टूटे झोपड़े में सो जाता है वो मजदूर, जो शहर में ऊंची इमारतें बनाता है।

अमीर की बेटी पार्लर में जितना दे आती है, उतने में गरीब की बेटी अपने ससुराल चली जाती है।

कल एक इन्सान रोटी मांगकर ले गया और करोड़ों कि दुआयें दे गया, पता ही नहीँ चला की, गरीब वो था की मैं।

दीदार की तलब हो तो नजरें जमाये रखना .. क्यों कि ‘नकाब’ हो या ‘नसीब’ सरकता जरूर है।

गठरी बाँध बैठा है अनाड़ी, साथ जो ले जाना था वो कमाया ही नहीं।

मैं उस किस्मत का सबसे पसंदीदा खिलौना हूँ, वो रोज़ जोड़ती है मुझे फिर से तोड़ने के लिए।

जिस घाव से खून नहीं निकलता, समझ लेना वो ज़ख्म किसी अपने ने ही दिया है।

बचपन भी कमाल का था खेलते खेलते चाहें छत पर सोयें या ज़मीन पर, आँख बिस्तर पर ही खुलती थी।

हर नई चीज अच्छी होती है लेकिन दोस्त पुराने ही अच्छे होते है।

ए मुसीबत जरा सोच के आ मेरे करीब कही मेरी माँ की दुवा तेरे लिए मुसीबत ना बन जाये।

खोए हुए हम खुद हैं, और ढूंढते भगवान को हैं।

अहंकार दिखा के किसी रिश्ते को तोड़ने से अच्छा है की,माफ़ी मांगकर वो रिश्ता निभाया जाये।

जिन्दगी तेरी भी, अजब परिभाषा है..सँवर गई तो जन्नत, नहीं तो सिर्फ तमाशा है।

खुशीयाँ तकदीर में होनी चाहिये, तस्वीर मे तो हर कोई मुस्कुराता है।

हम तो पागल हैं शौक़-ए-शायरी के नाम पर ही दिल की बात कह जाते हैं और कई इन्सान गीता पर हाथ रख कर भी सच नहीं कह पाते है।

जिंदगी में वही लोग कामयाबी के शिखर को छुते है… जो बचपन में साइकिल की चैन उतरते ही तुरंत उल्टा पैडल मारकर चढ़ा लिया करते थे।

न जाने क्या मासूमियत है तेरे चेहरे पर.. तेरे सामने आने से ज़्यादा तुझे छुपकर देखना अच्छा लगता है।

जो इंसान प्रेम मेँ निष्फल होता है, वो जिदगी मे सफल होता है।

हम अपना ‪#‎status‬ दिलो पर ‪#‎update‬ करते है ‪#‎facebook‬ पर नहीं।

ज़िंदगी भी विडियो गेम सी हो गयी है, साला एक लैवल क्रॉस करो तो अगला लैवल और मुश्किल आ जाता हैं।

मेरे दोस्त केहते हैं तुम्हारे सब #StatuS एक नंबर रेहते हैं मैने कहा २ नंबर के काम मैने कभी किया ही नहीं।

वो कहते है कि हमे मोहब्बत है आपसे हमने भी कह दिया जा झूठी प्यार का पंचनामा-2 देखी है हमने।

जिंदगी मै सिर्फ़ दो ही नशा करना, जीने के लिए यार और मरने के लीये प्यार।

कुछ लोग मुझे अपना कहा करते थे.. सच कहूँ तो वो सिर्फ कहा करते थे।

कल ही तो तौबा की मैंने शराब से.. कम्बख्त मौसम आज फिर बेईमान हो गया।।

भीड़ में खड़ा होना मकसद नही है मेरा, बल्कि भीड़ जिसके लिए खड़ी है वो बनना है मुझे।

बारिश की बूँदों में झलकती है तस्वीर उनकी‬‎और हम उनसे मिलनें की चाहत में भीग जाते हैं‬।

कौन कहता है की सिर्फ ‪चोट‬ ही ‪दर्द‬ देता है असली दर्द मुझे तब होता है जब तू ‪ online‬ आके भी ‪reply‬ नहीं देती।

अंदाज़ कुछ अलग ही हे मेरे सोचने का, सब को मंज़िल का शौख हे, मुझे रास्ते का।

पसंद है मुझे.. उन लोगों से हारना… जो लोग मेरे हारने की वजह से पहली बार जीते हों।

‘हुनर’ सड़कों पर तमाशा करता है और ‘किस्मत’ महलों में राज करती है!!

मैंने महसूस किया है उस जलते हुए रावण का दुःख जो सामने खड़ी भीड़ से बारबार पूछ रहा था.. तुम में से कोई राम है क्या?

नए लोग से आज कुछ तो सीखा हे, पहले अपने जैसा बनाते हे फिर अकेला छोड़ देते है।

खेलने दो उन्हे जब तक जी न भर जाए उनका, मोहब्बत चार दिन कि थी तो शौक कितने दिन का होगा।

मोहब्बत ख़ूबसूरत होगी किसी और दुनियाँ में, इधर तो हम पर जो गुज़री है हम ही जानते हैं।

एहसान वो किसी का लेते, नहीं मेरा भी चुका दिया, जितना भी खाया था नमक, मेरे ज़ख़्मों पर लगा दिया।

कोई उसे खुश करने के बहाने ढूंड रहा था, मैने कहा- उसे मेरे मरने की खबर सुना दे।

किस बात पर मिजाज बदला बदला सा है.. शिकायत है हमसे.. या ये असर किसी और का है।

रहता तो नशा तेरी यादों का ही है, कोई पूछे तो कह देता हुँ पी रखी है।

काश कि वो लौट आयें मुझसे यह कहने, कि तुम कौन होते हो मुझसे बिछड़ने वाले।

हद से बढ़ जाये तालुक तो गम मिलते हैं.. हम इसी वास्ते अब हर शख्स से कम मिलते हँ।

कितना कुछ जानता होगा वो शख्स मेरे बारे में मेरे मुस्कुराने पर भी जिसने पूछ लिया की तुम उदास क्यों हो।

कभी फुर्सत मिले तो सोचना जरूर, एक लापरवाह लड़का क्यों तेरी परवाह करता था।

जिंदगी में बेशक हर मौके का फायदा उठाओ.. मगर, किसी के भरोसे का फ़ायदा नहीं।

जिस्म से होने वाली मुहब्बत का इज़हार आसान होता है. रुह से हुई मुहब्बत को समझाने में ज़िन्दगी गुज़र जाती है।

तेरा नाम था आज किसी अजनबी की जुबान पे बात तो जरा सी थी पर दिल ने बुरा मान लिया।

आयेंगे तेरी गलि में चाहे देर क्यू न हो जाये करेंगे मोहब्बत तुझ से हि चाहेजेल क्यू नहो जाये।

बात करने से ही बात बनती है..बात ना करने से, बातें बन जाती है।

Ladkiya.. makeup mein le leti he ladko ki jaan.. aur saala makeup utaro toh poora kabristan..!

Aankho me aansu mohhabat ki nishani hai… samjho to moti na samjho to paani hai…!!

Zindagi chain sey guzar jaye… Agar wo zehan sey utar jaye

ज्यादा बोझ लेकर चलने वाले अक्सर डूब जाते हैं, फिर चाहे वह अभिमान का हो या सामान का हो।

बेशक तू बदल ले अपनी मौहब्बत लेकिन ये याद रखना, तेरे हर झूठ को सच मेरे सिवा कोई नही समझ सकता।

ज़िंदगी रही तो तुम्हारा साथ निभाऊंगा दोस्तो, अगर कभी भूल गया तो समझ लेनाकि… शादी हो गयी।

ये दिल भी कितना पागल है हमेशा उसी की फिकर मे डुबा रहता है जो इसका होता ही नही है।

Life में एक partner होना जरुरी है. वर्ना दिल की बात status पर लिखनी पड़ती है।

खामोश हूँ तो सिर्फ़ तुम्हारी खुशी के लिए ये न सोचना की मेरा दिल दुःखता नहीं।

‪‎इज्जत‬ किया करो ‪‎हमारी‬, वरना ‪#‎Girlfriend‬ पटा लेंगे तुम्हारी।

अजीब सी बस्ती में ठिकाना है मेरा जहाँ लोग मिलते कम झांकते ज़्यादा है।

बात मुक्कदर पे आ के रुकी है वर्ना, कोई कसर तो न छोड़ी थी तुझे चाहने में।

किसी को क्या बताये की कितने मजबूर है हम.. चाहा था सिर्फ एक तुमको और अब तुम से ही दूर है हम।

वहां तक तो साथ चलो जहाँ तक साथ मुमकिन है, जहाँ हालात बदलेंगे वहां तुम भी बदल जाना।

हम ना बदलेंगे वक्त की रफ़्तार के साथ, हम जब भी मिलेंगे अंदाज पुराना होगा !! नजर चाहती है दीदार करना दिल चाहता है प्यार करना।

क्या बताऊँ इस दिल का आलम नसीब में लिखा है इंतज़ार करना।

अधूरी मोहब्बत मिली तो नींदें भी रूठ गयी.. गुमनाम ज़िन्दगी थी तो कितने सकून से सोया करते थे।

अरे कितना झुठ बोलते हो तुम खुश हो और कह रहे हो मोहब्बत भी की है।

सुनो.. तुम ही रख लो अपना बना कर.. औरों ने तो छोड़ दिया तुम्हारा समझकर।

कागज़ों पे लिख कर ज़ाया कर दूं मै वो शख़्स नही वो शायर हुँ जिसे दिलों पे लिखने का हुनर आता है।

झूठ बोलने का रियाज़ करता हूँ सुबह और शाम मैं सच बोलने की अदा ने हमसे कई अजीज़ यार छीन लिये।

निकली थी बिना नकाब आज वो घर से मौसम का दिल मचला लोगोँ ने भूकम्प कह दिया।

अगर तुम समझ पाते मेरी चाहत की इन्तहा तो हम तुमसे नही तुम हमसे मोहब्बत करते।

अमीरों के लिए बेशक तमाशा है ये जलजला, गरीब के सर पे तो आसमान टुटा होगा।

नफरत ना करना पगली हमे बुरा लगेगा.. बस प्यार से कह देना अब तेरी जरुरत नही है।

कुछ इसलिये भी ख्वाइशो को मार देता हूँ माँ कहती है घर की जिम्मेदारी है तुझ पर।

नफरत ना करना पगली हमे बुरा लगेगा.. बस प्यार से कह देना अब तेरी जरुरत नही है।

जो मेरे बुरे वक्त में मेरे साथ है मे उन्हें वादा करती हूँ मेरा अच्छा वक्त सिर्फ उनके लिए होगा।

ये जो छोटे होते है ना दुकानों पर होटलों पर और वर्कशॉप पर दरअसल ये बच्चे अपने घर के बड़े होते है।

कुछ लोग आए थे मेरा दुख बाँटने मैं जब खुश हुआ तो खफा होकर चल दिये।

मोत से तो दुनिया मरती हैं आशीक तो बस प्यार से ही मर जाता हैं।

दिल टूटने पर भी जो शख्स आपसे शिकायत तक न कर सके.. उस शख्स से ज्यादा मोहब्बत आपको कोई और नही कर सकता।

बिक रहे हैं ताज महल सड़क-चौराहों पर आज भी.. मोहब्बत साबित करने के लिए बादशाह होना जरुरी नहीं।

डूबे हुओं को हमने बिठाया था अपनी कश्ती में यारो, और फिर कश्ती का बोझ कहकर, हमें ही उतारा गया।

Tere na hone se kuchh bhi nahi badla,. Bus kal jaha Dil hota tha, Aaj waha dard hota hai..!!

Masla ye nahi k tera hu Masla ye hai k sirf tera hu..!!

 

Apman ka Badla – Buddha Story

शाम का समय था। महात्मा बुद्ध एक शिला पर बैठे हुए थे। वह डूबते सूर्य को एकटक देख रहे थे। तभी उनका शिष्य आया और गुस्से में बोला, गुरुजी रामजी नाम के जमींदार ने मेरा अपमान किया है। आप तुरंत चलें, उसे उसकी मूर्खता का सबक सिखाना होगा। महात्मा बुद्ध मुस्कुराकर बोले, प्रिय तुम बौद्ध हो, सच्चे बौद्ध का अपमान करने की शक्ति किसी में नहीं होती। तुम इस प्रसंग को भुलाने की कोशिश करो। जब प्रसंग को भूला दोगे, तो अपमान कहां बचेगा।

What Happens After We Die

एक बार बुद्ध से उनके एक शिष्य ने पूछा, भगवन आपने आज तक यह नहीं बताया कि मृत्यु के बाद क्या होता है। उसकी बात सुनकर बुद्ध मुस्कुराए, फिर उन्होंने उससे पूछा, पहले मेरी एक बात का जबाव दो। अगर कोई कहीं जा रहा हो और अचानक कहीं से आकर उसके शरीर में एक जहर भरा तीर लग जाए तो उसे क्या करना चाहिए। पहले शरीर में घुसे तीर को हटाना ठीक रहेगा या फिर देखना कि बाण किधर से आया है और किसे लक्ष्य कर मारा गया है।

शिष्य ने कहा, पहले तो शरीर में घुसे तीर को तुरंत निकालना चाहिए,नहीं तो जहर पूरे शरीर में फ़ैल जाएगा। बुद्ध ने कहा, बिल्कुल ठीक कहा तुमने, अब यह बताओ कि पहले इस जीवन के दुखों के निवारण का उपाय किया जाए या मृत्यु की बाद की बातों के बारे में सोचा जाए।.

शिष्य अब समझ चुका था और उसकी जिज्ञासा शांत हो गई।

Read more Buddha Stories in Hindi

Boiling Frog Story in Hindi

क्या आप जानते है, अगर एक मेंढक को ठंडे पानी के बर्तन में डाला जाए और उसके बाद पानी को धीरे धीरे गर्म किया जाए तो मेंढक पानी के तापमान के अनुसार अपने शरीर के तापमान को समायोजित या एडजस्ट कर लेता है|

जैसे जैसे पानी का तापमान बढ़ता जाएगा वैसे वैसे मेंढक अपने शरीर के तापमान को भी पानी के तापमान के अनुसार एडजस्ट करता जाएगा|

लेकिन पानी के तापमान के एक तय सीमा से ऊपर हो जाने के बाद मेंढक अपने शरीर के तापमान को एडजस्ट करने में असमर्थ हो जाएगा| अब मेंढक स्वंय को पानी से बाहर निकालने की कोशिश करेगा लेकिन वह अपने आप को पानी से बाहर नहीं निकाल पाएगा|

वह पानी के बर्तन से एक छलांग में बाहर निकल सकता है लेकिन अब उसमें छलांग लगाने की शक्ति नहीं रहती क्योंकि उसने अपनी सारी शक्ति शरीर के तापमान को पानी के अनुसार एडजस्ट करने में लगा दी है| आखिर में वह तड़प तड़प मर जाता है|

मेंढक की मौत क्यों होती है ??

ज्यादातर लोगों को यही लगता है कि मेंढक की मौत गर्म पानी के कारण होती है|

लेकिन सत्य यह है कि मेंढक की मौत सही समय पर पानी से बाहर न निकलने की वजह से होती है| अगर मेंढक शुरू में ही पानी से बाहर निकलने का प्रयास करता तो वह आसानी से बाहर निकल सकता था|

हम इंसान है, मेंढक नहीं – Get Out of the Places that make you Uncomfortable and do not be dependent on anything

Read more motivational stories

Havan ka Mahatva

Importance of Havanहवन का महत्व….
.
.
.
.
.
.
.
.

फ़्रांस के ट्रेले नामक वैज्ञानिक ने हवन पर रिसर्च की। जिसमें उन्हें पता चला की हवन मुख्यतः आम की लकड़ी पर किया जाता है। जब आम की लकड़ी जलती है तो फ़ॉर्मिक एल्डिहाइड नामक गैस उत्पन्न होती है। जो कि खतरनाक बैक्टीरिया और जीवाणुओं को मारती है तथा वातावरण को शुद्द करती है।

इस रिसर्च के बाद ही वैज्ञानिकों को इस गैस और इसे बनाने का तरीका पता चला। गुड़ को जलाने पर भी ये गैस उत्पन्न होती है। टौटीक नामक वैज्ञानिक ने हवन पर की गयी अपनी रिसर्च में ये पाया की यदि आधे घंटे हवन में बैठा जाये अथवा हवन के धुएं से शरीर का सम्पर्क हो तो टाइफाइड जैसे खतरनाक रोग फ़ैलाने वाले जीवाणु भी मर जाते हैं और शरीर शुद्ध हो जाता है।

हवन की महत्ता देखते हुए राष्ट्रीय वनस्पति अनुसन्धान संस्थान लखनऊ के वैज्ञानिकों ने भी इस पर एक रिसर्च की। क्या वाकई हवन से वातावरण शुद्द होता है और जीवाणु नाश होता है ? अथवा नही ? उन्होंने ग्रंथों में वर्णिंत हवन सामग्री जुटाई और जलाने पर पाया कि ये विषाणु नाश करती है। फिर उन्होंने विभिन्न प्रकार के धुएं पर भी काम किया और देखा कि सिर्फ आम की लकड़ी 1 किलो जलाने से हवा में मौजूद विषाणु बहुत कम नहीं हुए।

पर जैसे ही उसके ऊपर आधा किलो हवन सामग्री डाल कर जलायी गयी तो एक घंटे के भीतर ही कक्ष में मौजूद बैक्टीरिया का स्तर 94 % कम हो गया। यही नहीं उन्होंने आगे भी कक्ष की हवा में मौजुद जीवाणुओ का परीक्षण किया और पाया कि कक्ष के दरवाज़े खोले जाने और सारा धुआं निकल जाने के 24 घंटे बाद भी जीवाणुओं का स्तर सामान्य से 96 % कम था।

बार-बार परीक्षण करने पर ज्ञात हुआ कि इस एक बार के धुएं का असर एक माह तक रहा और उस कक्ष की वायु में विषाणु स्तर 30 दिन बाद भी सामान्य से बहुत कम था। यह रिपोर्ट एथ्नोफार्माकोलोजी के शोध पत्र (Resarch journal of Ethnopharmacology 2007) में भी दिसंबर 2007 में छप चुकी है। रिपोर्ट में लिखा गया कि हवन के द्वारा न सिर्फ मनुष्य बल्कि वनस्पतियों एवं फसलों को नुकसान पहुचाने वाले बैक्टीरिया का भी नाश होता है। जिससे फसलों में रासायनिक खाद का प्रयोग कम हो सकता है ।

Read more Interesting Stories

Loading...
Subscribe for Latest Shayari and Stories