मैं हर रात सारी ख्वाहिशों को…

shayari, Gulzar Shayari, Super Shayari

मैं हर रात सारी ख्वाहिशों को खुद से पहले सुला देता
हूँ मगर रोज़ सुबह ये मुझसे पहले जाग जाती है,!!!!

 

Read More Gulzar Shayari 

Spread the love

Leave a Reply