Romantic Shayari

Pehli pehli Muhabbaton ka khumaar…

Pehli pehli Muhabbaton ka khumaar
baton baton main raat dhal jaaye
ab k dil main woh dard utra hai
ghair mumkin hai aaj kal jaaye
zindgi khush hai tere wadon pe
jaisay bachay ka dil behal jaye
hijr ki raat dhal gayi mohsin
ab to dil se kaho sambhal jaye

Read More Love Shayari 

Unki Tasveer Ko Seene Se Laga …

उनकी तस्वीर को सिने से लगा लेते हैं,
इस तरह जुदाई का गम मिटा देते हैं,
किसी तरह कभी उनका जिक्र हो जाये तो,
भींगी पलकों को हम झुका लेते हैं।

 

Read More Romantic Shayari 

Kasoor to tha hi…

कसूर तो था ही इन निगाहों का,
जो चुपके से दिदार कर बैठी,
हमने तो खामोश रहने की ठानी थी,
पर बेव़फा ये जुब़ान इजहार कर बैठी…!!!

 

Read More Romantic shayari 

Mujhko Chu Kar Pighal Rahe ho …

मुझको छूके पिघल रहे हो तुम ,
मेरे हमराह जल रहे हो तुम।
चाँदनी छन रही है बादल से ,
जैसे कपड़े बदल रहे हो तुम।
पायलें बज रही हैं रह रह कर ,
ये हवा है कि चल रहे हो तुम।
नींद भी टूटने से डरती है ,
मेरे ख़्वाबों में ढल रहे हो तुम।

 

Read More Romantic Shayari 

Mohabbat Ko Jo Nibhate Hai…

Mohabbat Ko Jo Nibhate Hai Unko Mera Salaam Hai,
Aur Jo Bich Raaste Me Chhod Jaate Hai Unko,
Hamara Ye Paigaam Hai..
Vaada-E-Vafa Kro To Fir Khud Ko Fanna Kro,
Vrna Khuda Ke Liye Kisi Ki Jindgi Na Tabaah Karo!

 

Read More Love Shayari