Thodi Masti Thoda Sa Imaan

 

Thodi Masti Thoda Sa Imaan Bacha Paya Hun,
Yeh Kya Kam Hai Main Apni Pahchaan Bacha Paya Hun,
Kuchh Ummidein, Kuchh Sapne, Kuchh Mahekti Yaadein,
Jeene Ka Main Itna Hi Saaman Bacha Paya Hun.

थोड़ी मस्ती थोड़ा सा ईमान बचा पाया हूँ,
ये क्या कम है मैं अपनी पहचान बचा पाया हूँ,
कुछ उम्मीदें, कुछ सपने, कुछ महकती यादें,
जीने का मैं इतना ही सामान बचा पाया हूँ।

Read More Life Shayari 

Leave a Reply